Mercedes-Benz Inclusive Safety At The Forefront Of Tech Advancements

मर्सिडीज-बेंज: तकनीकी प्रगति की सागर सीमा में समाहित सुरक्षा

गाड़ी की सुरक्षा के क्षेत्र में, मर्सिडीज-बेंज आगे बढ़ता है, न केवल नवाचार की अगुआई करता है बल्कि अपने क्रैश टेस्ट में समृद्धि के माध्यम से विविधता का समर्थन भी करता है। सामान्य भ्रांतियों के विपरीत, कंपनी ने महत्त्वपूर्ण रूप से सुनिश्चित किया है कि वह महिलाओं और पुरुषों की सुरक्षा को लेकर सख्त परीक्षण प्रक्रिया का पालन कर रही है।

दो दशकों से अधिक समय से, मर्सिडीज-बेंज ने अपने क्रैश टेस्ट में महिला सामन्य प्रभाव डमी और महिला साइड प्रभाव डमी को शामिल किया है। इन डमीज को मानव कुकर्म की भांति उपयोग किया जाता है, जो भौतिक बलों और यात्राओं को मापता है। लगभग 1.5 मीटर लंबा और 49 किलोग्राम वजन वाली ‘पाँचवीं प्रतिशत महिला’ डमी, मर्सिडीज-बेंज के मुखपृष्ठ क्रैश टेस्ट में एक स्थायी सहयोगी रूप में हैं। यह प्रतिबद्धता कानूनी आवश्यकताओं से पहले है, जो इस ब्रांड की समृद्धि को सार्वजनिक सुरक्षा उपायों में विशेषज्ञता की दिशा में स्पष्ट करती है।

क्रैश टेस्ट्स 120 विभिन्न प्रकार की डमीज के साथ किए जाते हैं, जिनमें बालकों से लेकर पाँचवीं प्रतिशत महिलाओं और 50वीं प्रतिशत पुरुषों तक हर प्रकार की आत्मरूपता को अनुकरण किया जाता है। ये परीक्षण, जो सालाना 900 क्रैश टेस्ट्स और 1,700 स्लेड टेस्ट्स का हिस्सा हैं, उन्नत सुरक्षा प्रौद्योगिकियों के सिद्धांतों के सतत विकास में योगदान करते हैं।

मर्सिडीज-बेंज की वास्तविक जीवन सुरक्षा रणनीति, जो अधिक से अधिक 50 वर्षों से विकसित हो रही है, इन वाहनों से जुड़ी दुर्घटनाओं का अध्ययन करके, यह समझने में शामिल है कि दुर्घटनाएं कैसे होती हैं और नए सुरक्षा प्रणालियों को बनाने और मौजूदा प्रणालियों को सुधारने में कैसे मदद कर सकती हैं।

प्रचलित भ्रांतियों का सामना करते हुए, मर्सिडीज-बेंज के टेस्ट-इंजीनियरिंग और डमी टेक्नोलॉजी के प्रमुख, हन्ना पॉल, महिलाओं के लिए सुरक्षा उपायों के प्रभाव के बारे में भ्रांतियों को दूर करती हैं। उनका तर्क है कि गंभीर या घातक चोटों में लिंगों के बीच कोई साक्षात्कार संबंधी विषमता नहीं है। महिला डमीज का उपयोग समृद्धि सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण है, जिनमें विभिन्न लोगों की प्रतिनिधित्व करने वाले विभिन्न प्रकार के होते हैं।

इंफोग्राफिक्स बाएं: हन्ना पॉल; दाएं: मर्सिडीज-बेंज द्वारा विभिन्न प्रकार की 120 से अधिक क्रैश टेस्ट डमीजों का उपयोग

पुराने तथ्यों के खिलाफ, यातायात की नीतियों में हुई हाल की प्रगतियों ने सभी वाहन सेगमेंट्स में सुरक्षा को काफी सुधारा है। 120 से अधिक प्रकार की डमीजों में बढ़ती विविधता, विभिन्न संघटन स्थितियों के लिए समृद्धि सुनिश्चित करती है।

मर्सिडीज-बेंज नए जनरेशन के डमीज, जैसे कि थॉर, को प्रस्तुत करके डमी टेक्नोलॉजी के विकास में सक्रिय रूप से शामिल है। इन नए पीढ़ी के डमीज, जैसे कि थॉर, मानव शरीर की अधिक सटीक चित्रण प्रदान करते हैं, मापन विकल्पों को बढ़ाते हैं और सुरक्षा अनुसंधान को बढ़ाते हैं।

गर्भवती महिलाओं के बारे में चिंताओं का सामना करते हुए, एडाक जैसे संगठनों के अध्ययनों के अनुसार, सामान्य सीट बेल्ट्स गर्भवती महिलाओं और उनके गर्भस्थ शिशु को दुर्घटनाओं से प्रभावी रूप से बचाते हैं। इसके अलावा, मर्सिडीज-बेंज विमोचन से पूरी तरह से लागू होने का धाराप्रवाह नहीं करेगा, असली-दुनिया के परीक्षण के माध्यम से सिमुलेशन की पुष्टि करने की आवश्यकता को बल प्रदर्शन करता है।

निष्कर्ष मर्सिडीज-बेंज की विविध क्रैश टेस्टिंग की प्रतिबद्धता उसकी गाड़ियों की सुरक्षा में एक नेतृत्व भूमिका को पुनः साबित करती है, सुनिश्चित करती है कि सुरक्षा उपाय न केवल समृद्धि में हैं बल्कि तकनीकी प्रगति के सागर में भी हैं

मर्सिडीज-बेंज सुरक्षा क्रैश टेस्टिंग के बारे में पूछे जाने वाले सवाल (FAQs):

  1. क्या मर्सिडीज-बेंज ने वास्तव में महिलाओं के लिए सुरक्षा को ध्यान में रखा है?
    • हाँ, मर्सिडीज-बेंज ने अधिकतम दो दशकों से महिलाओं की सुरक्षा को महत्वपूर्ण मानते हुए उन्हें क्रैश टेस्ट में शामिल किया है।
  2. कैसे महिला सुरक्षा के लिए क्रैश टेस्टिंग किया जाता है?
    • महिला सामान्य प्रभाव डमीज और महिला साइड प्रभाव डमीज को क्रैश टेस्ट में शामिल किया जाता है, जो भौतिक बलों और यात्राओं को मापते हैं। विभिन्न प्रकार की महिला डमीज, जैसे कि ‘पाँचवीं प्रतिशत महिला’, सुरक्षा की पूर्णता की दृष्टि से महत्वपूर्ण हैं।
  3. क्या मर्सिडीज-बेंज गर्भवती महिलाओं के सुरक्षा को ध्यान में रखता है?
    • हाँ, मर्सिडीज-बेंज ने गर्भवती महिलाओं के लिए भी सुरक्षा की अध्ययन और सुरक्षा उपायों के माध्यम से उन्हें सुरक्षित रखने का ध्यान रखा है।
  4. कैसे मर्सिडीज-बेंज ने अपने क्रैश टेस्टिंग को विविध बनाया है?
    • विभिन्न प्रकार की डमीज, बालकों से लेकर पुरुषों और महिलाओं तक, को क्रैश टेस्ट में शामिल करके मर्सिडीज-बेंज ने अपने टेस्टिंग को विविध बनाया है।
  5. क्या मर्सिडीज-बेंज ने नए जनरेशन के डमीज को कैसे प्रस्तुत किया है?
    • हाँ, मर्सिडीज-बेंज ने THOR (एक उन्नत 50वीं प्रतिशत पुरुष अंग्रेजी टेस्ट डिवाइस) जैसे नए जनरेश चित्रण करते हैं और सुरक्षा अनुसंधान में नई समर्थन विकल्पों को प्रदान करते हैं।
  1. क्या महिला और पुरुषों के बीच सुरक्षा में कोई विशेष अंतर है?
    • हन्ना पॉल, मर्सिडीज-बेंज की टेस्ट-इंजीनियरिंग और डमी टेक्नोलॉजी के प्रमुख, ने यह बताया है कि गंभीर या घातक चोटों में लिंगों के बीच विशेष अंतर नहीं है, और महिला डमीज का उपयोग सुरक्षा की पूर्णता की दृष्टि से किया जाता है।
  2. क्या मर्सिडीज-बेंज के अनुसंधान अनुक्रम से किसी नए सुरक्षा प्रणाली का विकसन होता है?
    • हाँ, वाहन दुर्घटनाओं की जाँच के अनुसार, मर्सिडीज-बेंज नए सुरक्षा प्रणालियों के विकसन में शामिल है, जो नई तकनीकों को शामिल करने और मौजूदा प्रणालियों को सुधारने में मदद करती हैं।
  3. क्या मर्सिडीज-बेंज ने गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित बैल्ट्स का विकसन किया है?
    • अदाक जैसे संगठनों के अध्ययन के अनुसार, मर्सिडीज-बेंज ने सामान्य सीट बेल्ट्स का विकसन करके गर्भवती महिलाओं और उनके गर्भस्थ शिशु की सुरक्षा को प्रभावी बनाया है।
  4. क्या मर्सिडीज-बेंज सिमुलेशन के माध्यम से सुरक्षा टेस्टिंग का समर्थन करता है?
    • हाँ, मर्सिडीज-बेंज सिमुलेशन की माध्यम से सुरक्षा टेस्टिंग का समर्थन करता है, लेकिन यह महत्वपूर्ण है कि सिमुलेशन्स को वास्तविक दुनिया के परीक्षणों से मान्यता प्राप्त होने के लिए योग्य बनाया जाए।
  5. किस प्रकार से मर्सिडीज-बेंज ने सुरक्षा मापदंडों में समृद्धि की वजह से अपनी नेतृत्व भूमिका को पुनः साबित किया है?
    • मर्सिडीज-बेंज ने अपने गाड़ियों की सुरक्षा में हुई समृद्धि की वजह से और विविध सुरक्षा मापदंडों को ध्यान में रखकर अपनी नेतृत्व भूमिका को पुनः साबित किया है।

Leave a comment